पूर्व सैनिक ने लौटाई शकील अहमद के चेहरे पर मुस्कान, दिया ईमानदारी का परिचय

जम्मू निवासी रहने शकील अहमद लड़भड़ोल में रहकर मजदूरी करता है। शनिवार को शकील मजदूरी करके ट्रैक्टर में बनांदर से लड़भड़ोल अपने कमरे में आ रहा था तो

पूर्व सैनिक ने लौटाई शकील अहमद के चेहरे पर मुस्कान, दिया ईमानदारी का परिचय
गुम हुआ पर्स लौटाते हुए।

जोगिंदरनगर: हिमाचल में पर्स या फिर आपकी कीमती चीजें गुम होने के बाद उन्हें आप तक लौटाना कोई बड़ी बात नहीं है। ऐसी खबरें हम आपको पहले भी बता चुके हैं और एक बार फिर ऐसा ही वाक्या मंडी जिला के जोगिंदरनगर उपमंडल में देखने को मिला।

जोगिंदरनगर के लड़भड़ोल क्षेत्र के कुणी के रहने वाले भारतीय सेना से सेवानिवृत्त शक्ति चंद चौहान ने पैसों से भरा पर्स लौटाकर ईमानदारी का परिचय दिया है। दरअसल, जम्मू निवासी रहने शकील अहमद लड़भड़ोल में रहकर मजदूरी करता है। शनिवार को शकील मजदूरी करके ट्रैक्टर में बनांदर से लड़भड़ोल अपने कमरे में आ रहा था तो इसी दौरान उसका पर्स कहीं गिर गया था।

शकील अहमद ने पर्स ढूंढ़ने का प्रयास जारी रखा, लेकिन जब पर्स नहीं मिला तो सोशल मीडिया के जरिए पर्स गुम होने के बारे में जानकारी दी। शकील का पर्स भारतीय सेना से सेवानिवृत्त शक्ति चंद चौहान को मिला था। 

शक्ति चंद बताते हैं कि जब वो शनिवार को लड़भड़ोल से अपने घर कुणी जा रहे तो पुल के साथ नीचे पर्स गिरा हुआ था। जिसके बाद उन्होंने इस पर्स के मालिक तलाश जारी रखी। जब उन्हें पता चला कि पर्स शकील का है तो खुद पर्स लौटाने शकील के पास पहुंचे और शकील की अमानत उसे सौंप दी।