रात 12 बजे मंदिर से चोरी कर खिसक रहा था दिल बहादुर, चौकीदार ने देखा तो जंगल की ओर भागा, पीछे दौड़े ग्रामीण..

ये चोर मंदिर में दरवाजे को कीलबारी से उखाड़ कर अंदर घुसा। चोर ने मंदिर में रखी चांदी की नौ मूर्तियां, दो छड़ियां और करनाली सहित करीब 15 लाख का सामान समेट लिया। दिल बहादुर सामान लेकर मंदिर से भाग ही रहा था कि..

रात 12 बजे मंदिर से चोरी कर खिसक रहा था दिल बहादुर, चौकीदार ने देखा तो जंगल की ओर भागा, पीछे दौड़े ग्रामीण..
मंदिर में चोरी कर भाग रहा था चोर।

ज्यूरी(रामपुर): गुरुवार रात करीब 12:00 बजे रामपुर उपमंडल के झाकड़ी पुलिस थाना के तहत आने वाले 15/20 क्षेत्र के गांव काओबिल स्थित देवता नाग कनसर मंदिर में चोरी करने के इरादे से घुसे दिल बहादुर को लगा कि रात का समय है और उस पर किसी की निगाह नहीं है, लेकिन नेपाली मूल के 70 वर्षीय दिल बहादुर, पुत्र गगन की यह करतूत मंदिर में लगे सीसीटीवी में कैद हो रही थी। आरोपी बड़े ही आराम से मंदिर में रखी चांदी की मूर्तियों और नगदी को इकट्ठा कर रहा था।

ये चोर मंदिर में दरवाजे को कीलबारी से उखाड़ कर अंदर घुसा। चोर ने मंदिर में रखी चांदी की नौ मूर्तियां, दो छड़ियां और करनाली सहित करीब 15 लाख का सामान समेट लिया। दिल बहादुर सामान लेकर मंदिर से भाग ही रहा था कि उसी समय मंदिर के सामने चौकीदार की नजर उस पर पड़ गई।

चौकीदार चोर-चोर चिल्लाया तो दिल बहादुर ने आधा सामान रास्ते में ही छोड़ दिया और अंधेरे का फायदा उठाकर जंगल की ओर भाग गया। उधर, चौकीदार की आवाज सुनकर आस-पड़ोस के कुछ लोग उठ गए और ज्यूरी की तरफ जाने वाले रास्ते व सड़क में चोर का पीछा करने लगे।

ग्रामीणों ने मामले की सूचना पुलिस को दी। सूचना मिलते ही पुलिस टीम भी चोर की तलाश में ग्रामीणों के साथ शामिल हो गई। जानकारी मिलने पर डीएसपी रामपुर चंद्रशेखर कायथ और एसएचओ झाकड़ी ईश्वर सिंह काओबिल पहुंचे। कड़ी मशक्कत के बाद दिल बहादुर को गांवनी की ओर पैदल रास्ते से भागते हुए दबोच लिया गया और पुलिस ने आरोपी से चोरी किया गया पूरा सामान और नकदी बरामद कर ली।

डीएसपी रामपुर चंद्रशेखर कायथ ने मामले की पुष्टि करते हुए बताया कि लबाना सदाना पंचायत के काओबिल स्थित देवता नाग कनसर मंदिर से मूर्तियां, चांदी का सामान और नकदी चोरी करने वाले आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। मामले में आगामी कार्रवाई अमल में लाई जा रही है