विक्रमादित्य ने फिर दी राकेश पठानिया को खालटी में रहने की नसीहत, कहा- उपचुनाव में दिखाया ट्रेलर अब दिखएंगे पिक्चर

विक्रमादित्य सिंह ने वन मंत्री राकेश पठानिया पर जमकर निशाना साधा। इतना ही नहीं जिस खालटी शब्द को लेकर विधानसभा सत्र के दौरान खूब तू-तू मैं-मैं हुई थी। उसी शब्द का इस्तेमाल करते हुए विक्रमादित्य ने एक बार फिर से..

विक्रमादित्य ने फिर दी राकेश पठानिया को खालटी में रहने की नसीहत, कहा- उपचुनाव में दिखाया ट्रेलर अब दिखएंगे पिक्चर
राकेश पठानिया को विक्रमादित्य सिंह की नसीहत।

शिमला: हिमाचल प्रदेश में जैसे-जैसे विधानसभा चुनाव नजदीक आ रहे हैं। वैसे-वैसे नेताओं की तीखी बयानबाजी और जुबानी जंग भी तेज होती चली जा रही है। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर और नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री के बीच हुई जुबानी जंग के बाद बीजेपी और कांग्रेस के नेता अपने-अपने दल के नेता के पक्ष में मैदान में उतर रहे हैं। और एक-दूसरे पर हमला करने में कोई कसर नहीं छोड़ रहे। 

शुक्रवार को वन मंत्री राकेश पठानिया ने जहां नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री को मर्यादा में रहकर बयानबाजी करने की नसीहत दी तो वहीं शनिवार को शिमला ग्रामीण से विधायक विक्रमादित्य सिंह ने वन मंत्री राकेश पठानिया पर जमकर निशाना साधा। इतना ही नहीं जिस खालटी शब्द को लेकर विधानसभा सत्र के दौरान खूब तू-तू मैं-मैं हुई थी। उसी शब्द का इस्तेमाल करते हुए विक्रमादित्य ने एक बार फिर से पठानिया खालटी में रहने की नसीहत दे डाली। 

सीएम जयराम ठाकुर को नसीहत
विक्रमादित्य ने कहा कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने एक ऐसे मंत्री को प्रेस कांफ्रेंस करने के लिए उतारा, जो बेलगाम है। उन्होंने कहा कि नूरपुर में रणवीर सिंह निक्का की महारैली के बाद पठानिया बुरी तरह बौखला गए हैं और ऐसे में उल-जलूल बयानबाजी करते हुए नजर आ रहे हैं। 

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को नसीहत देते हुए विक्रमादित्य बोले कि उन्हें प्रेस कॉन्फ्रेंस करने के लिए किसी ऐसे मंत्री को उतारना चाहिए था, जिसका गिरेबान स्वच्छ और साफ होता। बीजेपी सरकार ने बीते साढ़े चार साल में कोई विकास नहीं कार्य नहीं किया। अब विधानसभा चुनाव नजदीक आता देख बीजेपी नेता लोगों का ध्यान भटकाने की कोशिश कर रहे हैं। 

बीजेपी को विक्रमादित्य की चुनौती
विक्रमादित्य सिंह ने सरकार को चुनौती देते हुए कहा कि वह अपने पांच ऐसे कार्य जनता के सामने रखें, जिसे बीजेपी सरकार में शुरू कर उसका उद्घाटन किया गया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश भर में जो विकास कार्य हो रहे हैं और सभी कांग्रेस सरकार ने शुरू किए हैं। उन्होंने कहा कि जिस मनरेगा योजना की बीजेपी के नेता आलोचना करते थे, आज उसी मनरेगा की प्रशंसा करते नजर आते हैं। 

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर और उनके मंत्रियों ने साढ़े 4 साल में कोई विकास कार्य नहीं किया और अब अपनी हार नजदीक आते देख बौखलाहट में बयानबाजी करते नजर आ रहे हैं। शुक्रवार को वन मंत्री राकेश पठानिया की प्रेस कॉन्फ्रेंस में सहेली शब्द को असंवैधानिक बताने को भी विक्रमादित्य सिंह ने सरासर गलत बताया। उन्होंने कहा कि यह शब्द किसी भी तरीके से न तो असंसदीय है और न ही असंवैधानिक। 

विक्रमादित्य ने कहा कि मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने स्वयं नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री के खिलाफ गलत बयानबाजी शुरू की। मुख्यमंत्री ने उनकी पत्नी और बेटी के साथ परिवार को लेकर टिप्पणी की। इसके बाद में नेता प्रतिपक्ष ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को माकूल जवाब दिया। 

उन्होंने कहा कि बीजेपी यह न सोचे कि नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री अकेले हैं। उनके साथ पूरी कांग्रेस पार्टी चट्टान की तरह खड़ी है और कांग्रेस मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर को ईंट का जवाब पत्थर से देने के लिए तैयार है। बीजेपी सरकार उपचुनाव में मिली 4-0 की हार को भूल गई है। कांग्रेस पार्टी ने उपचुनाव में बीजेपी को ट्रेलर दिया था, जिसकी पूरी फिल्म विधानसभा चुनाव में दिखाई जाएगी।