HRTC स्टाफ की मानवता, ड्यूटी से ऊपर रखी इंसानियत

खबर में कई हीरो हैं। आप अपने हिसाब से चयन कर सकते हैं। सबका अपना अहम रोल रहा है।

HRTC स्टाफ की मानवता, ड्यूटी से ऊपर रखी इंसानियत
बस में महिला की तबीयत हुई खराब।

कुल्लू/लाहौल: जो खबर हम आपको बता रहे हैं, ये खबर चंद रोज पहले की है। खबर के अंदर इंसानियत का एक वो पहलू दिखा जो आज की तारीख में बहुत कम दिखता है। इसलिए हमें लगा कि क्यों ना बहुत कम बचे इस इंसानियत को दुनिया के सामने लाया जाए।

भागदौड़ भरी इस जिंदगी में आज सभी को जल्दी है। किसी के पास समय नहीं है। वह बस अपने और अपनों के इर्द-गिर्द इतना व्यस्त है कि उसे अपने आसपास की दुनिया से कोई मतलब नहीं।

सोचिए कि आप किसी बस में एक लंबे सफर पर हैं। आपको ऑफिस की चिंता है। आपको घर परिवार की चिंता है। आपको जल्दी पहुंचना है। 

लेकिन अचानक से बस रुक जाती है। चालक और परिचालक आपके गंतव्य तक ना जाते हुए हॉस्पिटल की तरफ बस को मोड़ देते है तो क्या आप गुस्से से आगबबूला नहीं हो जाएंगे,  आपको गुस्सा आएगा ही। लेकिन सवारियों से भरी बस में किसी ने भी विरोध नहीं किया। क्योंकि बस में जिस महिला की तबीयत खराब हुई। उसे सवारियों ने एक मुसाफिर की तरह नहीं देखा। बल्कि एक इंसान की तरह देखा। और शायद यही इंसानियत आज की तारीख में बहुत कम देखने को मिलती है।

इस खबर में कई हीरो है। आप अपने हिसाब से चुन सकते हैं। खैर सीधा खबर पर आते हैं। लाहौल स्पीति के उदयपुर से एचआरटीसी की बस दिल्ली के लिए रवाना हुई थी। बस जब गोंदला के पास पहुंची तो वहां से एक बुजुर्ग दंपति सवार हुआ। निगम की एक बस अटल टनल के नजदीक पहुंची ही थी। तभी इस महिला यात्री की तबीयत खराब हो जाती है और वो बेहोश हो जाती है।

चालक इसकी सूचना क्षेत्रीय प्रबंधक को देता है। कहा जाता है कि मरीज को तुरंत मनाली अस्पताल पहुंचाना होगा  मौके की गंभीरता को देखते हुए अस्पताल प्रशासन को भी इसकी सूचना दे दी गई। चीफ मेडिकल ऑफिसर डॉक्टर मदन बंधु ने त्वरित कार्रवाई की और मनाली अस्पताल अलर्ट कर दिया। अटल टनल के आस-पास कोई मेडिकल सुविधा ना होने के चलते चालक गंतव्य की तरफ रवाना होकर बस को सीधे अस्पताल ले जाने का फैसला करता है। चालक परिचालक महिला को ना केवल अस्पताल पहुंचाते हैं। बल्कि उन्हें भर्ती भी करवाते हैं। अस्पताल में महिला का इलाज किया गया और अब महिला की स्वास्थ्य सामान्य है।

महिला ने ना केवल चालक परिचालक का धन्यवाद किया। बल्कि तमाम लोगों का धन्यवाद करते हुए कहा कि मुझे एक नया जन्म मिला है।।